Communal Violence Erupted in Bengaluru: बेंगलुरू फेसबुक पोस्ट के बाद भड़की सांप्रदायिक हिंसा

Communal Violence Erupted in Bengaluru: कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू (Bengaluru) में भड़की सांप्रदायिक हिंसा (Bengaluru Violence) के बाद राजनीतिक प्रतिक्रिया का दौर जारी है। दरअसल, पुलकेशिनगर ( Pulakeshinagar ) में मंगलवार रात भीड़ ने पुलिस थाने और कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति (Srinivas Murthy) के आवास पर तोड़फोड़ की। यह सब विधायक के रिश्तेदार द्वारा एक अपमानजनक पोस्ट शेयर करने के बाद हुआ। इस हिंसा में अब तक 3 लोगों के मारे जाने और कई के घायल होने की खबर है।

Communal Violence Erupted in Bengaluru: बेंगलुरू फेसबुक पोस्ट के बाद भड़की सांप्रदायिक हिंसा

Communal Violence Erupted in Bengaluru: बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने बताया कि सोशल मीडिया में अपमानजनक पोस्ट साझा करने के आरोपी नवीन और आगजनी के आरोप में 110 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि हिंसा में तीन लोगों की मौत हो गई और करीब 60 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। घायलों में एसीपी भी शामिल हैं। यह घटना विधायक के एक कथित संबंधी द्वारा सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक मुद्दे से जुड़े एक पोस्ट साझा किए जाने के बाद हुई।


Communal Violence Erupted in Bengaluru: जानिए कब क्या हुआ?


मंगलवार रात लगभग 9 बजे से भीड़ विधायक श्रीनिवास मूर्ति के घर और पूर्वी बेंगलुरु के डीजे हल्ली पुलिस स्टेशन के बाहर एकत्र होने लगी। दर्जनों की संख्या में पहुंचे लोगों ने लगभग 9 बजकर 30 मिनट पर विधायक के घर पर हमला बोल दिया। थाने पर तोड़फोड़ की।


10 बजे तक बवाल इतना बढ़ गया था कि उपद्रवी भीड़ ने विधायक के घर में जमकर तोड़फोड़ कर दी। घर और बाहर खड़ीं लगभग 30 से ज्यादा कारों को आग की हवाले कर दिया। विधायक के घर में आग लगा दी गई। थाने को आग के हवाले कर दिया गया।


मौके पर पहुंची पुलिस ने भीड़ को समझाने का प्रयास किया। उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिसवालों को जमकर पीटा। हालात बेकाबू होने पर रात 12 बजे के बाद पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी।


फायरिंग में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने 110 लोगों को हिरासत में लिया। रात लगभग 2 बजे स्थितियां काबू हुईं। फायरिंग और गिरफ्तारी के बाद उपद्रवी मौके से भागे।


रात को 3 बजे के बाद ही उच्च अधिकारियों ने शहर में धारा 144 लागू कर दी। डीजे हल्ली और केजी हल्ली दो थानांतर्गत इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया। रात में ही विधायक के भतीजे ने पोस्ट डिलीट कर दी और पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।


Communal Violence Erupted in Bengaluru: समाजिक एकता की एक अलग तस्वीर भी देखने को मिली


बेंगलुरु में हिंसा की तस्वीरों के बीच समाजिक एकता की एक अलग तस्वीर भी देखने को मिली। वहां गुस्साई भीड़ से एक मंदिर को बचाने के लिए मुस्लिम युवकों ने ह्यूमन चेन बनाया और उपद्रवियों का वहां पास आने से रोक दिया। सोशल मीडिया पर इन लोगों की खूब तारीफ हो रही है। इसी वीडियो और पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने कहा है कि जो लोग दोषी हैं उन्हें ना बख्शा जाए लेकिन बेंगलुरु में जो कुछ ऐसा भी हुआ है जिसे देखा जाना चाहिए।


Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman