India Vs China: फिर दिखाया अपना रंग, गलवान घाटी में फिर से दिखे चीन के टेंट

नई दिल्ली: लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव को कम करने के लिए भारत और चीन (India Vs China) के बीच राजनयिक और मिलिट्री स्तर पर लगातार बातचीत चल रही है|

India Vs China: फिर दिखाया अपना रंग, गलवान घाटी में फिर से दिखे चीन के टेंट

इस बीच सैटेलाइट से ली गई नई तस्वीरों के जरिए दावा किया गया है कि गलवान घाटी में एक बार फिर से चीन ने दोहरी चल चलते हुए टेंट गाड़ दिए हैं| इसी जगह 15 जून को दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक खूनी झड़प हुई थी| यहां भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे| जबकि दावा किया जा रहा है कि चीन के 45 से ज्यादा सैनिकों को मार गिराया गया था|


India Vs China: भारतीय सेना ने इस दावे को खारिज किया


अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि जिन टेंट को भारतीय सैनिकों ने 15 जून को हटाए थे वो वापस आ गए हैं| ये टेंट पेट्रोलिंग संख्या 14 के पास थे| हालांकि भारतीय सेना ने सीमा पर ऐसे किसी भी नए स्ट्रक्चर की मौजूदगी से इनकार किया है|


India Vs China: हाई रेजोल्यूशन नई सैटेलाइट इमेज से किया गया दावा


हाई रेजोल्यूशन नई सैटेलाइट इमेज गलवान घाटी के पेट्रोल प्वाइंट-14 की है। 22 मई को ली गई एक इमेज में गलवान घाटी में LAC के नजदीक सिर्फ एक टेंट नजर आ रहा है। लेकिन इसके बाद ली गई दूसरी इमेज में LAC के पास चीनी सेना की मौजूदगी और उसके निर्माण साफतौर पर नजर आए। यहीं पर 16 जून को ली गई एक अन्य तस्वीर में चीन के बुल्डोजर भी दिखे।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन ने पूर्वी लद्दाख के दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) हवाई पट्टी से 30 किलोमीटर और देपसांग से 21 किलोमीटर दूर बड़ी संख्या में सेना तैनात की है। यहां कैम्पों में सैन्य गाड़ियां और तोप भी पहुंचने लगी हैं। चीन इस इलाके में पेट्रोलिंग प्वाइंट 10 से 13 के बीच भारतीय सेना के लिए मुश्किल खड़ी करना चाहता है। वह काराकोरम दर्रे के पास के इलाकों में कब्जा करना चाहता है, ताकि उसे पाकिस्तान जाने वाले हाईवे के लिए रास्ता मिल जाए। भारत ने इस प्रोजेक्ट के निर्माण को रोक दिया था।


Disclaimer: बेफिकर पोस्टमॅन किसी भी तरीके से इस निर्माण की पुष्टि नही करता है|

5 views

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman