जगन्नाथ पुरी रथयात्रा को सुप्रीम कोर्ट शर्तों के साथ दी रथ यात्रा करने की इजाजत

कोरोना काल मे प्रसिद्ध रथ यात्रा को अपना फ़ैसला बदलते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पुरी में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकालने की अनुमति दे दी है। वही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि स्वास्थ्य मुद्दों के साथ बिना समझौता किए और मंदिर समिति, राज्य और केंद्र सरकार के समन्वय के साथ रथ यात्रा आयोजित की जाएगी।

जगन्नाथ पुरी रथयात्रा को सुप्रीम कोर्ट शर्तों के साथ दी रथ यात्रा करने की इजाजत

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 18 जून को हुई सुनवाई में पुरी में 23 जून को होने वाली रथयात्रा को कोरोना महामारी के कारण रोक लगा दी थी। परंतु कोर्ट के फैसले के विरुद्ध कई पुनर्विचार याचिकाएं लगाई गई थी। जिसपर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने अपने पुराने फैसले को पलटते हुए जगन्नाथ रथ यात्रा को शर्तों के साथ निकालने की अनुमति दे दी है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने नए आदेश में कहा कि अगर ओडिशा सरकार को लगता है कि कुछ चीजें हाथ से निकल रही हैं तो वो यात्रा को रोक सकती है।


इससे पहले 18 जून को सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा था, ''यदि हमने इस साल हमने रथ यात्रा की इजाजत दी तो भगवान जगन्नाथ हमें माफ नहीं करेंगे। महामारी के दौरान इतना बड़ा समागम नहीं हो सकता है।'' बेंच ने ओडिशा सरकार से यह भी कहा कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राज्य में कहीं भी यात्रा, तीर्थ या इससे जुड़े गतिविधियों की इजाजत ना दें।


बिना भक्तों के पुरी में रथयात्रा आयोजन


रथयात्रा के लिए गजपति महाराज दिव्य सिंहदेव ने ओडिशा सरकार को प्रस्ताव दिया है कि बिना भक्तों पुरी में रथयात्रा आयोजन किया जा सकता है। गजपति महाराज के इस प्रस्ताव को पहले ओड़िशा सरकार एवं अब केन्द्र सरकार ने अपना समर्थन दिया है।


सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को क्या आदेश दिया?


1. सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर अपलोड किए गए ऑर्डर में कहा गया- पुरी में बिना लोगों की भीड़ के रथ यात्रा को मंजूरी दी जा सकती है।

2. हर रथ को 500 से ज्यादा लोग नहीं खींच सकते। दो रथों को खींचने के बीच में एक घंटे का अंतर होना चाहिए। इन सभी का कोरोनावायरस का टेस्ट होना चाहिए।

3. रथ यात्रा के दौरान पुरी में कर्फ्यू लगाया जाए। रथों को खींचने वाले यात्रा से पहले, यात्रा के दौरान और यात्रा के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें।

4. रथ यात्रा में आने वाले सभी लोगों की रिकॉर्ड रखा जाए। मेडिकल टेस्ट के बाद उनकी सेहत की जानकारी को भी दर्ज किया जाए।

5. रथ यात्रा और सभी रस्मों को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को कवर करने की इजाजत दी जाए। सरकार क्रू के मुताबिक कैमरा लगाने की इजाजत दे।


मुख्यमंत्री ने फ़ैसले पर खुशी जताई


मुख्यमंत्री नवीन पटनायक यात्रा की तैयारियों को लेकर मीटिंग की। ओडिशा सरकार ने पुरी में आज रात 9 बजे से बुधवार दोपहर दो बजे तक कम्पलीट लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। सीएम पटनायक ने कहा कि यात्रा के दौरान हम लोग बेहद सावधानी बरतेंगे।


हमें अनुशासन बनाए रखना है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर हमें दुनिया के सामने नजीर पेश करनी चाहिए। गृहमंत्री अमित शाह ने ओडिशा के लोगों की बधाई दी। कहा कि पूरा देश सुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश है।

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman