धमाके से दहल उठी लेबनान की राजधानी बेरूत, अब तक 78 लोगों की मौत, 3700 से ज्‍यादा घायल, देखे वीडियो

लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार को हुए भीषण व‍िस्‍फोट में अब तक कम से कम 78 लोग मारे गए हैं और 3700 ये ज्‍यादा लोग घायल हो गए हैं। लेबनान की हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री ने कम से कम 78 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हमद हसन ने इस भीषण हादसे को देश के लिए 'आपदा' करार दिया है और चेतावनी दी है कि मरने वालों की तादाद काफी ज्‍यादा बढ़ सकती है। इस बीच देश के प्रधानमंत्री आज आपात बैठक करने वाले हैं और माना जा रहा है कि दो सप्‍ताह के लिए देश में आपातकाल लगा दिया गया है।

धमाके से दहल उठी लेबनान की राजधानी बेरूत, अब तक 78 लोगों की मौत, 3700 से ज्‍यादा लोग घायल

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हसन ने बताया है कि बेरूत पोर्ट के एक वेयर हाउस में हुए विस्‍फोट में इतने ज्‍यादा लोग हताहत हुए हैं कि शहर के सारे अस्‍पताल भर गए हैं। इस विस्‍फोट में जो लोग मारे गए हैं, उनमें कतीब पार्टी के महासचिव निजार नजरियान भी शामिल हैं। निजार के पार्टी का मुख्‍यालय बेरूत बंदरगाह के ठीक सामने ही था। द नैशनल काउंसिल फॉर साइंटिफिक रिसर्च ने कहा कि यह भीषण धमाका अमोनियम नाइट्रेट की वजह से हुआ जो एक वेयर हाउस के अंदर रखा हुआ था।

6 साल से रखा हुआ था 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट


बताया जा रहा है कि वेयर हाउस के अंदर 6 साल से 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट रखा हुआ था। इसका इस्‍तेमाल खाद बनाने में किया जाना था। लेबनान के राष्‍ट्रपति माइकल आउन ने ट्विटर पर लिखा कि बिना सुरक्षा इंतजाम के 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट रखने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। इस भीषण धमाके के बाद पूरे बेरूत शहर में बर्बादी का आलम नजर आया।


स्थानीय निवासी ने बताया कि धमाका इतना भीषण था कि इमारतों के शीशे टूट गए। सभी लोग दहशत में नजर आया। किसी को कुछ भी नहीं पता चल पा रहा था कि क्‍या हुआ है। बस आकाश में गुलाबी धुएं का विशाल गुबार देखा गया। हालत यह हो गई कि कई घायलों का कॉरिडोर के अंदर इलाज किया गया। लेबनान के रेडक्रॉस ने लोगों से अपील की है कि वे तभी अस्‍पताल जाएं जब बहुत जरूरी हो।


1.5 किमी दूर तक धुएं का गुबार देखा गया


अल जदीद टीवी चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक कजाकिस्‍तान के राजदूत भी इस धमाके में घायल हुए हैं। मेडिकल ऑफिसर्स ने लोगों से अपील की है कि वे ब्‍लड डोनेट करें। विस्‍फोट इतना भीषण था कि 1.5 किमी दूर तक उसके गुबार को देखा गया। बताया जा रहा है कि ऐसे दो धमाके यहां हुए हैं जिनमें से एक पोर्ट इलाके में और एक शहर के अंदर हुआ है।


संयुक्त राष्ट्र शांति सेना का जहाज भी क्षतिग्रस्त


बेरूत में हुए धमाके से वहां तैनात संयुक्त राष्ट्र शांति सेना की मैरीटाइम टास्क फोर्स का एक जहाज भी क्षतिग्रस्त हो गया. कई शांति सैनिकों के भी घायल होने की खबर है, जिनमें से कई गंभीर रूप से घायल बताए जाते हैं. घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. शांति मिशन के हेड और फोर्स कमांडर मेजर जनरल डेल कॉल ने कहा कि हम इस कठिन समय में लेबनान के लोगों और सरकार के साथ है. हम हर तरह की सहायता करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.


अमेरिका, फ्रांस ने जताई एकजुटता


अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो ने ट्वीट कर लेबनान के साथ एकजुटता व्यक्त करते हुए मदद की पेशकश की है. ब्रिटेन और ईरान के नेताओं ने भी लेबनान के साथ एकजुटता व्यक्त करते हुए ट्वीट किया है. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने बेरूत धमाकों के हमला होने की आशंका जताई है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman