New Rules of E-Commerce 2020: अब कंपनी को देने होंगे ये सुविधा, जानिए 7 मुख्य बदलाव

New Rules of E-commerce 2020: मोदी सरकार ने ग्राहक अधिनियम में बदलाव के बाद अब ई-कॉमर्स कंपनियों को लेकर नए नियम (New rules of e-commerce 2020) ले कर आयी हैं। भारत सरकार ने Consumer Protection (E-Commerce) Rules 2020 तहत यह सब नियम-कायदे बनाए गए हैं। अगर कंपनी नियम का उल्लंघन करती है तो कंपनी पर Consumer Protection Act, 2019 के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।

New Rules of E-Commerce 2020: अब कंपनी को देने होंगे ये सुविधा, जानिए 7 मुख्य बदलाव

New Rules of E-commerce 2020: 20 जुलाई को ही कंज्यूमर अफेयर्स सेक्रेटरी लीना नंदन ने कहा था कि नियम फाइनल हो गए हैं। नियमों को ऐसे बनाया गया है ताकि ग्राहक को तो फायदा हो ही, साथ ही ई-कॉमर्स पॉलिसी पर भी कोई बड़ा असर ना पड़े।


आइये जानते है क्या New Rules of E-commerce 2020:


New Rules of E-commerce 2020: पहला नियम: बताना होगा कहां बना है सामान


अब ई-कॉमर्स कंपनियों को अपने प्लैटफॉर्म्स पर मिलने वाले उत्पादों पर यह लिखना जरूरी होगा कि वह सामान कहां बना है। जो ई-कॉमर्स कंपनी ऐसा नहीं करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यानी अब आपको कोई भी सामान खरीदने से पहले ये पता होगा कि वह कहां बना है। ताकि लोग खुद ही ये तय कर सकें कि उन्हें वो सामान खरीदना है या नहीं। चीन के सामानों का बहिष्कार करने की मांग के बीच सरकार का ये फैसला चीन को भारी नुकसान पहुंचाने वाला हो सकता है और यूजर्स को सामान खरीदते वक्त फैसला लेने में मदद करेगा।


New Rules of E-commerce 2020: दूसरा नियम: प्रोडक्ट से सम्बंधित अन्य जानकारियां भी देना होगा जरूरी


प्रोडक्ट को लेकर उसकी एक्सपायरी डेट, रिटर्न, रिफंड, एक्सचेंज, वारंटी और गारंटी जैसी सारी जानकारियों समेत डिलीवरी और शिपमेंट की जानकारी भी देनी होगी। साथ ही अगर ग्राहक को अपना फैसला लेने के लिए किसी और जानकारी की जरूरत है तो वह भी ई-कॉमर्स कंपनी को मुहैया करानी होगी।


New Rules of E-commerce 2020: तीसरा नियम: अब नहीं लगेगा कैंसिलेशन चार्ज


नए नियमों के मुताबिक ई-कॉमर्स वेबसाइट ग्राहकों पर ऑर्डर कैंसिल करने के लिए कैंसिलेशन चार्ज नहीं लगा सकती है। यानी अगर आपने अब कोई प्रोडक्ट कैंसिल किया तो ई-कॉमर्स साइट कोई चार्ज नहीं मांगेगी। ऐसा करना नियमों का उल्लंघन होगा।


New Rules of E-commerce 2020: चौथा नियम: कीमत से नहीं कर सकेंगे गुमराह


नए एक्ट के तहत ई-कॉमर्स वेबसाइट कीमत को लेकर भी ग्राहकों को गुमराह नहीं कर सकती हैं। वह ज्यादा फायदा कमाने के लिए गलत कीमत नहीं दिखा सकती हैं। ना ही ई-कॉमर्स कंपनियां ग्राहकों के साथ किसी भी आधार पर भेदभाव कर सकती हैं।


New Rules of E-commerce 2020: पांचवा नियम: भुगतान के तरीके बताने होंगे


ई-कॉमर्स वेबसाइट्स को ये भी बताना होगा कि उनके पास भुगतान के कौन-कौन से तरीके उपलब्ध हैं। इन भुगतान के तरीकों की सिक्योरिटी के बारे में भी बताना होगा और साथ ही बाकी जानकारियां भी देनी होंगी, जो भुगतान करने के लिए जरूरी हों। सर्विस प्रोवाइडर के बारे में जानकारी देना भी जरूरी है।


New Rules of E-commerce 2020: छठा नियम: सेलर की पूरी जानकारी देना जरूरी


नए नियमों के मुताबिक ई-कॉमर्स वेबसाइट को सेलर के बारे में पूरी जानकारी भी दिखानी होगी। इसमें उसके बिजनेस का नाम भी दिखाना होगा और ये बताना होगा कि वह रजिस्टर्ड है या नहीं। सेलर का जियोग्राफिक पता, कस्टमर केयर नंबर और उसके बारे में मिली रेटिंग्स को भी दिखाना होगा।


New Rules of E-commerce 2020: सातवा नियम: शिकायतों की टिकट नंबर भी देना जरुरी


नए नियमों में ग्राहकों द्वारा की जाने वाली शिकायतों को भी ध्यान में रखा गया है। नियमों के मुताबिक ई-कॉमर्स वेबसाइट को हर शिकायत के साथ टिकट नंबर भी देना जरूरी होगा, जिसकी मदद से ग्राहक अपनी शिकायत का स्टेट चेक कर सके।

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman