Noida Fraud Case News: नोएडा में फ्रेंचाइजी के नाम पर बड़ा फ्रॉड, करोड़ों की ठगी 4 अरेस्ट

Noida Froud Case News: यूपी के नोएडा में फर्जी कंपनी बनाकर फ्रेंचाइजी देने के नाम पर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले गैंग का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। करीब 30 करोड़ की ठगी के इस चर्चित मामले में 4 लोगों को शुक्रवार रात सेक्टर-63 के सी ब्लॉक से थाना फेज- 3 पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गैंग का सरगना राजेश फरार है। अब तक 32 लोगों ने ठगी की शिकायत की है। अभी तक 40 मामले इनके खिलाफ आए हैं।

Noida Froud Case News: नोएडा में फ्रेंचाइजी के नाम पर बड़ा फ्रॉड, करोड़ों की ठगी 4 अरेस्ट

Noida Froud Case News: जालसाजों के कब्जे से मर्सिडीज समेत 5 कार, 3 किलोग्राम सोना व जूलरी, तीन फ्लैट के डॉक्युमेंट्स, 13.5 लाख रुपये कैश, 27 मोबाइल और 63 लैपटॉप समेत करीब 8-10 करोड़ रुपये का सामान बरामद हुआ है।


इसके अलावा 117 एटीएम कार्ड, 96 चेकबुक, 69 पैन कार्ड, 9 आधार कार्ड, 19 वोटर कार्ड, 17 ड्राइविंग लाइसेंस, 23 मुहर भी मिली हैं। साथ ही 56 लाख रुपये पुलिस ने सेक्टर-63 स्थित एक बैंक अकाउंट से फ्रीज कराए हैं। सेंट्रल जोन के डीएसपी हरीश चंदर ने बताया कि थाना फेज-3 में फ्रेंचाइजी देने के नाम पर ठगी करने के आरोप में 8 केस दर्ज हुए थे। जांच के बाद सेक्टर-63 से 4 लोगों को अरेस्ट किया गया।


Noida Froud Case News: गरफ्तार किये गए आरोपी की पहचान क्या है?


इनकी पहचान सुनील मिस्त्री (इंदिरानगर), सुनील कुमार (मेरठ), रविंद्र (साहिबाबाद) और अंकुर (इंदिरापुरम-क्लाउड 9 सोसायटी) के रूप में हुई है। गिरफ्त में आया अंकुर मुख्य आरोपी राजेश कुमार का सगा भाई है।


Noida Froud Case News: दिल्ली में जेल जा चुका है सरगना


सरगना राजेश कुमार साल 2014 में ठगी के मामले में दिल्ली से जेल जा चुका है। जेल से छूटने के बाद उसने नोएडा का रुख किया। 2019 में उसने सेक्टर-63 स्थित C-50 और E-29 में कंपनी खोली थी। यहां अपने छोटे भाई अंकुर और अन्य तीन लोगों के साथ मिलकर ठगी का धंधा शुरू कर दिया।


Noida Froud Case News: 10 से ज्यादा बनाई हैं फर्जी कंपनियां


इन लोगों ने हाइपरमार्ट, वेस्टलैंड प्राइवेट लिमिटेड, लुइस सैलून, मिडवे कैफे, साउथलैंड प्राइवेट लिमिटेड, डैकफैस्टर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बना रखी थी। इसके अलावा अन्य कई कंपनियों जाने की भी बात सामने आई है।


Noida Froud Case News: सोशल मीडिया पर करते थे कंपनी का प्रमोशन


आरोपी फर्जी कंपनी बनाकर यू-ट्यूब और गूगल पर मोबाइल नंबर देकर कंपनी का प्रमोशन कराते थे। फ्रेंचाइजी के लिए कॉल करने वालों को सेक्टर-63 स्थित दफ्तर बुलाया जाता था। यहां उन्हें फ्रेंचाइजी के बदले कैश और चेक लेकर मोबाइल नंबर बंद कर देते थे।


Noida Froud Case News: सिर्फ एक बार करते थे मोबाइल का यूज


नोएडा पुलिस का कहना है कि जालसाज एक क्लाइंट से बात करने के लिए एक मोबाइल और एक सिम का इस्तेमाल करते थे। रकम ऐंठने के बाद उस सिम को तोड़कर फेंक देते थे।नोएडा पुलिस ने बताया कि जालसाज एक क्लाइंड से बात करने के लिए एक मोबाइल और एक सिम का इस्तेमाल करते थे। रकम ऐंठने के बाद उस सिम को तोड़कर फेंक देते थे।


इस तरह कुछ लोगों से ठगी करने के बाद ये ऑफिस बंद कर फरार हो जाते थे। आरोपी कंपनी में जॉब से संबंधित इंटरव्यू देने के लिए आने वाले लोगों के डॉक्युमेंट्स का गलत इस्तेमाल कर फर्जी कंपनी भी खोलते थे।

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman