ना'पाक' पल्टूराम ने दाऊद पर फिर मारी पलटी, पहले बोला दाऊद पाकिस्तान में है, फिर मारी पलटी

वैसे तो पाकिस्तान पूरी दुनिया में अपने हरकतों के वजह से हास्यास्पद देश के तौर पर मशहूर है। पिछले दिनों सऊदी अरब के प्रिंस से मिलने गए वाजवा को प्रिंस ने मिलने तक का समय भी नहीं दिया। ऐसी अपमान के घुट पिने के बाद बीते दिन पाकिस्तान ने वांटेड आतंकवादी की सुचना जारी किया था। जिसमे अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Underworld don Dawood Ibrahim) के कराची में होने का पाकिस्तान ने कबूला था।

ना'पाक' पल्टूराम ने दाऊद पर फिर मारी पलटी, पहले बोला दाऊद पाकिस्तान में है, फिर मारी पलटी

लेकिन आज सुबह ही अपने कबूलनामे से पाकिस्तान एक बार फिर पलट गया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने आधिकारित तौर पर इस बात को नकार दिया है की अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Underworld don Dawood Ibrahim) पाकिस्तान की जमीन पर है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि यह दावा पूरी तरह से निराधार और भ्रामक है कि पाकिस्तान ने अपनी जमीन पर कुछ सूचीबद्ध व्यक्तियों (दाऊद इब्राहिम) की उपस्थिति को स्वीकार किया है।


1993 में मुंबई सीरियल धमाकों का जिम्मेदार बाद दाऊद पाकिस्तान भाग गया था


1993 में मुंबई सीरियल धमाकों का जिम्मेदार बाद अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Underworld don Dawood Ibrahim) पाकिस्तान भाग गया था। इस्लामाबाद लगातार इस बात से इनकार करता रहा है कि उसने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Underworld don Dawood Ibrahim) को शरण दी है। इन धमाकों में 257 लोगों की जान चली गई थी और करीब 1400 लोग घायल हुए थे। भारत कई बार पाकिस्तान से अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Underworld don Dawood Ibrahim) को सौंपने के लिए कहा चुका है।


बता दें कि शनिवार को पाकिस्तान ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Underworld don Dawood Ibrahim) समेत 88 प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों और उनके आकाओं पर कार्रवाई करने का दिखावा किया था। अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद वित्तपोषण पर निगरानी रखने वाली संस्था फाइनेंशियल एक्शन टॉस्क फोर्स (FATF) की ‘ग्रे लिस्ट’ से बाहर आने की कोशिशों के तहत पाकिस्तान ने ये लिस्ट जारी की। इस लिस्ट में हाफिज सईद, मसूद अजहर और दाऊद इब्राहीम का नाम भी शामिल था।


एफएटीएफ ग्रे लिस्ट में पाकिस्तान


पेरिस स्थित FATF ने जून, 2018 में पाकिस्तान को ‘ग्रे लिस्ट’ में डाला था और इस्लामाबाद को 2019 के अंत तक कार्ययोजना लागू करने को कहा था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इस समय सीमा बढ़ा दिया गया था। सरकार ने 18 अगस्त को दो अधिसूचनाएं जारी करते हुए 26/11 मुंबई हमले के साजिशकर्ता और जमात-उद-दावा के सरगना सईद, जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख अजहर और अंडरवर्ल्ड डॉन इब्राहीम पर प्रतिबंधों की घोषणा की थी।


इन आतंकियों पर कार्रवाई


खबरों के अनुसार, आतंकी संगठनों और उनके आकाओं की सभी संपत्तियों को जब्त करने और बैंक खातों को सील करने के आदेश दिएगए हैं। जिन आतंकियों पर कार्रवाई की बात कही गई, उनमें आतंकी हाफिज सईद, अजहर मसूद, मुल्ला फजलुल्ला, जकीउर रहमान लखवी, मुहम्मद यह्या मुजाहिद, अब्दुल हकीम मुराद, नूर वली महसूद, उजबेकिस्तान लिबरेशन मूवमेंट के फजल रहीम शाह, तालिबान नेता जलालुद्दीन हक्कानी, खलील अहमद हक्कानी, यह्या हक्कानी और दाऊद इब्राहीम और उसके सहयोगी शामिल थे।

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman