Patanjali Joins IPL title Sponsorship Race: IPL की टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ में शामिल हुई पतंजलि

Patanjali Joins IPL title Sponsorship Race: भारत में चीनी सामान के बहिष्कार की आवाज तेज होने के बाद आईपीएल (IPL) के टाइटल स्पोंसरशिप चीनी मोबाइल कंपनी वीवो (VIVO) के साथ सम्बन्ध पर भी खतरा मंडराने लगा। इसके बाद चीनी मोबाइल कंपनी वीवो को आईपीएल (IPL) के साथ नाता तोडना पड़ा। चीनी मोबाइल कंपनी वीवो (VIVO) के इस साल के लिए टाइटल स्पॉन्सर से हटने के बाद दुनियाभर के बड़े-बड़े कंपनियों में होड़ सी लग गयी अब इस दौर में योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पंतजलि (Patanjali) भी शामिल हो गई है।

Patanjali Joins IPL title Sponsorship Race: IPL की टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ में शामिल हुई पतंजलि

पंतजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने इस बात की पुष्टि भी की है। तिजारावाला ने कहा, 'हम इस साल आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप के बारे में सोच रहे हैं, क्योंकि हम पतंजलि ब्रांड को एक वैश्विक मंच पर ले जाना चाहते हैं।' उन्होंने यह भी कहा कि वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को इसके लिए एक प्रस्ताव भेजने की तैयारी कर रहे हैं।


हालांकि बाजार के जानकार इस बात को मानते हैं कि एक चीनी कंपनी के विकल्प के दौर पर एक राष्ट्रीय ब्रांड के तौर पर पंतजलि का दावा बहुत मजबूत है लेकिन उनका यह भी मानना है कि उसमें एक मल्टीनैशनल ब्रांड के तौर पर स्टार पावर की कमी है।


भारत और चीन के बीच तनाव के चलते चीनी मोबाइल फोन निर्माता कंपनी वीवो ने इस साल टाइटल स्पॉन्सरशिप से हटने का फैसला किया था। इसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने भी इस पर मुहर लगा दी थी। वीवो टाइटल स्पॉन्सशिप के लिए हर साल बीसीसीआई को 440 करोड़ रुपये का भुगतान करता है। हालांकि बोर्ड ने वीवो के अगले साल वापसी का रास्ता खुला रखा है। वीवो और आईपीएल का अनुबंध साल 2022 तक का है। कोरोना वायरस के चलते इस समय बाजार की हालत बहुत अच्छी नहीं है इसलिए बोर्ड भी समझता है कि एक साल के लिए कोई नई कंपनी शायद वीवो जितना ही भुगतान न करे।


सूत्रों की मने तो ऑनलाइन शॉपिंग के क्षेत्र में दिग्गज कंपनी ऐमजॉन, फैंटसी स्पोर्टस कंपनी ड्रीम 11 और टीम इंडिया की जर्सी स्पॉन्सर और ऑनलाइन लर्निंग कंपनी बायजूज भी इस साल के टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ मे हैं।


बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने शनिवार को लर्नफ्लिक्स ऐप की ओर से आयोजित एक वेबिनार में कहा, 'मैं इसे वित्तीय संकट नहीं कहूंगा। यह एक छोटी सी बात है, जो अचानक हुई। केवल एक ही तरीका है कि आप इसका सामना कर सकते हैं कि पेशेवर रूप से मजबूत बने रहें। बड़ी चीजें रात भर में नहीं आती हैं और ना ही केवल रात भर चलती हैं। लंबे समय तक की गई आपकी तैयारी ही नुकसान से बचाती है, जिससे आप सफलताओं के लिए तैयार हो जाते हैं।'


6 views

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman