हैंडपंप की शिकायत किया तो जवाब में आया 'शिकायतकर्ता के छाती में गाड़ा जायेगा हैंडपंप'

मध्यप्रदेश के भिंड में पीएचई विभाग के अधिकारियों का एक अजीबो गरीब कारनामा सामने आया है। सीएम हेल्पलाइन पर की गई एक हैंडपंप की शिकायत का निराकरण करते हुए अधिकारियों ने शिकायतकर्ता को पागल तक बता दिया। इतना ही नहीं, शिकायतकर्ता की छाती पर हैंडपंप गाड़ने तक की बात लिख दी।

हैंडपंप की शिकायत किया तो जवाब में आया 'शिकायतकर्ता के छाती में गाड़ा जायेगा हैंडपंप'

जवाब वायरल होने के बाद पीएचई विभाग के एक अधिकारी पर कार्रवाई हुई है। सरकार ने कार्यपालन यंत्री पीआर गोयल को निलंबित कर दिया है। इसे लेकर गुरुवार शाम को आदेश जारी कर दिया गया है।


क्या है पूरा मामला


भिंड के लहार इलाके के राहवली बेहड़ गांव के निवासी राहुल दीक्षित ने एक हैंडपंप के खनन के अधूरे काम की शिकायत सीएम हेल्प लाइन पर की थी। इस शिकायत के निराकरण में पीएचई विभाग के कार्यपालन मंत्री पी आर गोयल ने जवाब लिखते हुए शिकायतकर्ता को पागल बताया था। उसे परिवार समेत मिर्गी का मरीज बताते हुए, उसकी ही छाती में हैंडपंप गाड़ने की बात लिख दी थी।


जवाब में विभाग ने क्या लिखा?


जवाब में पीएचई विभाग की तरफ से लिखा गया, "शिकायतकर्ता पागल है, मिर्गी के दौरे आते हैं। हैंडपंप खराब नहीं है, इसका दिमाग खराब है। पूरा पीएचई महकमा जानता है। इस पागल ने मेरे हैंडपंप मैकेनिक के कपड़े फाड़ दिए हैं। अब वक्त आ गया है कि चीनी युद्ध किया जाए जो गोरिल्ला नीति है। हैंडपंप उखाड़कर शिकायतकर्ता की छाती में गाड़ा जाएगा।

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© All Rights reserved for Befikar Postman